एक्सपर्ट कॉर्नरडॉमेस्टिक

सीएयू सचिव महिम वर्मा Exclusive, वसीम जाफ़र बने हैड कोच

0

सुस्त गतिविधियों और लेटलतीफी को लेकर पब्लिश की गई हमारी खबर पर अब Cricket Association of uttarakhand के सचिव महिम वर्मा का जवाब आया है । महिम वर्मा ने तमाम सवालों के जवाब cricage को दिए :-

1. पिछले साल उत्तराखंड सीनियर टीम की परफॉर्मेंस अच्छी नही रही , इस साल क्या तैयारियां है !

महिम वर्मा :– देखिये अभी उत्तराखंड को बीसीसीआई से मान्यता मिले 1 साल भी नही हुआ है , पिछ्ले साल 13 अगस्त को मान्यता मिली थी जिसके बाद प्रोफेशनल प्लेयर्स व स्पोर्टिंग स्टाफ़ तक को फिल्टर करने का समय नही मिला । मैं मानता हूं सीनियर टीम अच्छा नही कर पाई , जिसका कारण टीम कॉम्बिनेशन नही बन पाना भी था । प्रो प्लेयर भी अपनी जिम्मेवारी निभाने में नाकामयाब रहे । लेकिन इस साल कोरोना वायरस के चलते हमारे पास समय था और उसका उपयोग करते हुए हम लगातार कई बड़े नामो से बातचीत कर रहे थे , अब पूर्व भारतीय खिलाड़ी वसीम जाफ़र को हैड कोच के लिए चुन लिया गया है , जिसका बड़ा फायदा टीम उत्तराखंड को मिलने वाला है । इसके अलावा कई सपोर्टिंग स्टाफ़ को हायर किया गया है । प्रो प्लेयर सबको लेकर मंथन चल रहा है जोकि जल्द ही सबके सामने होगा ।

सीएयू सचिव महिम वर्मा exclusive , वसीम जाफ़र बने हैड कोच      Type a message

2. महिम जी काफी समय तो लॉकडाउन की वजह से बर्बाद हो गया , खिलाड़ी प्रोपर अभ्यास भी नही कर पा रहे है , घरेलू टूर्नामेंट भी दूर की कौड़ी नजर आ रहे है । किस तरह से मैनेज होगा सब !!!

महिम वर्मा :- देखिये कोरोना की वजह से क्रिकेट ही नही बल्कि सभी क्षेत्रों पर प्रभाव पड़ा है , ये किसी के हाथ की बात नही , लेकिन हां अब सीएयू क्विक एक्शन के साथ काम करेगी , हमने अभी ऑनलाइन एपेक्स मीटिंग कर कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए है । आगामी सत्र के लिए इस तरह का रोडमैप तैयार किया जाएगा , जिससे बर्बाद हुए समय की भरपाई भी की जा सके ।

जल्द ही खिलाड़ियों के लिए अभ्यास को लेकर रोडमैप भी जारी कर दिया जाएगा , सरकारी गाइडलाइंस के साथ आगे बढ़ा जाएगा । सीएयू परमानेंट ऑफिस , एकेडमी तैयार कराने को लेकर भी जल्द ही निर्णय लिया जाएगा ।

साथ ही हमारे उत्तराखंड का बहुचर्चित टूर्नामेंट “गोल्ड कप” भी हमारी योजना में है , बेशर्ते खिलाड़ियों की सेफ़्टी ध्यान रखते हुए ।

सीएयू सचिव महिम वर्मा exclusive , वसीम जाफ़र बने हैड कोच

3. पिछले साल कोच व प्रो प्लेयर्स को लेकर खूब सवाल उठे , महिला टीमों का प्रदर्शन भी निराशजनक रहा , इस साल क्या बदलाव होंगे !!!

महिम वर्मा :- जैसा मैंने बताया स्पोर्टिंग स्टाफ़ को लेकर लगातार मंथन चल रहा है , कई बड़े नाम लूप में है , उत्तराखंड क्रिकेट के लिए जो बेस्ट होगा वो निर्णय हम लेंगे । क्रिकेट , क्रिकेटर और क्रिकेट सुविधाओं को लेकर कोई समझौता नही किया जाएगा ।
महिला क्रिकेट के स्तर को भी हमे ऊंचाइयों पर लेकर जाना है , गर्ल्स के लिए एकेडमी के साथ साथ होस्टल की व्यवस्था करने का विचार किया जा रहा है , जरूरत पड़ी तो बाकी प्रदेशो से खेल रही उत्तराखंड की खिलाड़ियो को वापस लाने की कोशिश की जाएगी ।

सीएयू सचिव महिम वर्मा exclusive , वसीम जाफ़र बने हैड कोच

4. उत्तराखंड क्रिकेट में लगातार खींचतान , छींटाकशी देखने को मिल रही है , क्या कारण है और कौन लोग है जो संतुष्ट नही !!!

बिल्कुल सही कहा , कुछ लोग है जो संतुष्ट नही , जो क्रिकेट को छोड़कर बाकी सब चाहते है , जो लगातार अपनी गैरजायज़ मांगो को मनवाने के लिए दवाब बना रहे है ।

खैर ये चीज़े चलती रहती है , इन पर हमें ध्यान ना देकर क्रिकेट को आगे बढ़ाना होगा , उत्तराखंड के युवा खिलाड़ियों को राष्ट्रीय स्तर पर जाना है , यहां टेलेंट की खान है , जिसका यूटिलाइजेशन समय पर करना होगा ।

सीएयू भगवान भरोसे हाथ पर हाथ रखकर बैठी है !

Previous article

उत्तराखंड के हैड कोच बने “वसीम जाफ़र , पिछले साल ही लिया था क्रिकेट से संन्यास

Next article

You may also like