बायोग्राफी

Biography – कपिल देव का क्रिकेट सफर

0
Biography – कपिल देव का क्रिकेट सफर

क्रिकेट लिजेंड और 1983 में भारत को वर्ल्ड कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव भारतीय क्रिकेट जगत के साथ ही क्रिकेट प्रेमियों के लिए सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के रुप में रहे है। देखा जाए तो कपिल देव की गिनती आलराउंडर खिलाड़ीयों में आज भी सर्वश्रेष्ठ हैं। सन् 2002 में विजडन ने कपिल देव को भारतीय क्रिकेट के सदी का महान क्रिकेटर चुना था। फिलहाल वे एक क्रिकेट विशेषज्ञ है और कमेन्ट्री में अपनी आवाज से करोड़ो दर्शको का मनोरंजन करते है।

Biography – कपिल देव का क्रिकेट सफर

कपिल देव का पूरा नाम कपिल देव राम लाल निखंज है, उनका जन्म 6 जनवरी 1959 चंड़ीगढ में हुआ था। उनके पिता का नाम रामलाल निखंज और माता का नाम राजकुमारी निखंज है। उन्होंने 1980 में रोमी भाटिया के साथ विवाह किया और उनकी बेटी का नाम आमिया देव है।Biography – कपिल देव का क्रिकेट सफर

  • कपिल देव ने अपने क्रिकेट की शुरुआत सन 1975 में की तब वह हरियाणा के लिए खेलते थे। उन्हें बल्लेबाजी और गेंदबाजी में महारथ हासिल था जिसकी वजह से वह एक महान आलराउंडर रहे हैं।
  • 1975-76 में रणजी ट्राफी खेल कर उन्होंने अपने क्रिकेट जीवन का शुरुआत किया। 1978 में पाकिस्तान दौरे के लिए इनका टीम इंडिया में चयन हुआ लेकिन वे इस दौरे में कुछ खास नहीं कर पाये।

Biography – कपिल देव का क्रिकेट सफर

  • उन्होंने 5 टेस्ट मैच के बाद अपना पहला टेस्ट शतक लगाया था, उस समय कपिल देव सबसे कम उम्र में शतक लगाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गये थे।
  • कपिल देव ने अपने गेदबाजी से भी विश्व पर अपनी अलग धाक जमाई। एक समय था जब कपिल देव के 434 टेस्ट विकेट का रिकार्ड कई सालो तक रहा था। कपिल देव ने ही सबसे पहले सर रिचर्ज हेडली के सर्वाधिक टेस्ट विकेटों का रिकार्ड्स तोड़ा था।

Biography – कपिल देव का क्रिकेट सफर

  • कपिल देव ने मात्र 20 साल की उम्र में दिल्ली में 126 रनों की पारी खेली थी, 1983 के समय में कपिल देव ने विश्व कप जीतकर क्रिकेट जगत में सनसनी फैला दी थी।
  • कपिल देव अपने जीवन में 132 टेस्ट मैच खेले जिसमें 5248 रन तथा 8 शतक और 434 विकेट भी लिये। इतना ही नही कपिल देव ने 64 कैच भी लपके हैं।

Biography – कपिल देव का क्रिकेट सफर

2002 में कपिल देव सदी के सबसे बड़े खिलाड़ी के लिए चुने गये थे। कपिल देव ने सबसे बड़ी यादगार क्रिकेट पारी 1983 के वर्ल्ड कप के दौरान जिम्बाबे के खिलाफ 175 रनों की खेली थीं। कपिल देव ने अपने क्रिकेट सफर में वनडे में 1 और टेस्ट मैच में 8 शतक लगाये हैं।

Biography – कपिल देव का क्रिकेट सफर

कपिल देव ने सन 1975 से अपने क्रिकेट की शुरुआत की और 1992 में क्रिकेट से संन्यास ले लिया, उन्हें अर्जुन पुरस्कार, पद्दम श्री, विजडन क्रिकेटर ऑफ द इयर और इंडियन क्रिकेटऑफ द सेंचुरी पुरस्कार खेल जगत में मिला है।

You Can Watch the Video Based on Biography Of Kapil Dev by clicking below:

खिलाड़ियों के लिए कैम्प लगाने की सोच रही है बीसीसीआई

Previous article

कोरोना काल में क्रिकेट खिलाड़ियों का बर्ताव होगा रोचक

Next article

You may also like